MKSP: ग्रामीण महिलाओं को सशक्त बनाना

महिला किसान सशक्तिकरण परियोजना उन ग्रामीण महिलाओं के लिए है जो अपनी जीविका सिर्फ खेती से ही कर सकती हैं, उनके पास अन्य कोई साधन नहीं है । सरकार ने उन महिलाओं को एक ऐसा तोहफा दिया है जिससे वह समाज में अपने लिए एक स्थान बना सकती हैं। इस परियोजना में 90% तक सरकार उनको आर्थिक सहायता देगी जिससे वह आत्मनिर्भर बन सके और गांव के विकास में अपना योगदान दे सकें ।

इस परियोजना में महिलाओं को शिक्षित किया जाता है जिससे वह खुद आत्मनिर्भर बन सके और स्वेच्छा से अपनी प्रगति में आगे बढ़े। इस परियोजना में वह महिलाएं भी आती है जिनका कोई नहीं है । वर्तमान में 36 लाख महिलाएं इस परियोजना में काम कर रही है । इस योजना का मकसद ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को जोड़ना और उन्हें अपने-अपने कार्य छेत्र में शिक्षित करना है।

महिला सशक्तिकरण परियोजना की सबसे खास बात यह है कि हर गांव और कस्बों में इसकी ट्रेनिंग हो रही है और इसे सीखने के बाद महिलाओं को रोजगार मिलता है। सरकार भी इस परियोजना को लेकर काफी जागरूक है । सरकार के पास हर एक गांव का पूरा डाटा मौजूद है ।

इस परियोजना में सबसे पहली प्राथमिकता उन गरीब महिलाओं को मिल रही है जो एससी/एसटी, भूमिहीन, अल्पसंख्यक समूह से आती है। आज के दौर में देखा जाए तो कोई भी महिला किसी पुरुष से कम नहीं है । महिलाएं हर एक कार्य कर सकती हैं जो पुरुष कर सकते है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य ही यही है कि महिलाओं को उनके बराबर की हिस्सेदारी मिले । ऐसा कहते हैं कि जब एक पुरुष शिक्षित होता है तो एक परिवार शिक्षित होता है लेकिन जब एक महिला शिक्षित होती है तो पूरा समाज शिक्षित होता है ।

More details visit the government website: https://mksp.gov.in/#/

Register here: https://mksp.gov.in/portal/login.nic

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »